खोज करे
  • FS Team

दुनिया को हवाई टैक्सी की क्यों ज़रुरतहै?


हवाई टैक्सी एक छोटा यात्री विमान है, जो मांग के आधार पर छोटी यात्राएं करता है।


फ्यूचर लिमिटेड एयरक्राफ्ट ट्रांसपोर्ट नेटवर्क (एसएटीएस) पर नासा और विमानन उद्योग की रिपोर्ट और हल्के विमान निर्माताओं की वृद्धि ने 2001 में संयुक्त राज्य अमेरिका में हवाई टैक्सी व्यवसाय का समर्थन किया था। 2016 से, हवाई टैक्सी व्यावसायिक ड्रोन जैसे निजी हवाई वाहनों के उभरते क्षेत्र में एक बार फिर से सामने आया है।


यह बहुत तेज़ है और ट्रैफिक कम करता है


जल्दी ही, ट्रैफिक जाम से बाहर निकलने के लिए हवाई टैक्सी की सवारी करना एक सामान्य चीज़ बन जायेगा। बोइंग और उबेर जैसी बड़ी-बड़ी कंपनियां परिवहन के नए प्रकार के रूप में हवाई टैक्सी में भारी निवेश कर रही हैं। वर्तमान में, इनमें से ज़्यादातर टैक्सियां दिखने में छोटे विमान या ड्रोन जैसी लगती हैं, और ये यात्रियों को तेज़ी से हवाई अड्डों, रिसॉर्ट और अन्य स्थानों पर पहुंचाकर आने-जाने के समय को काफी कम करती हैं।


इस व्यावसायिक दुनिया में पैसा बहुत कीमती है। इसलिए आप किसी काम को जितना जल्दी पूरा कर सकते हैं, आपको उसे उतनी ही जल्दी पूरा करना चाहिए। यहाँ तक कि पर्यटक भी अपना काम जल्दी से जल्दी पूरा करना चाहते हैं। परिवहन उद्योग में यह तनाव सबसे ज़्यादा महसूस किया जाता है। चूंकि, विमान रोजमर्रा के परिवहन का इतना अहम हिस्सा हैं, इसलिए कई लोग हवाई जहाज़ों और हवाई अड्डों के काम करने के तरीके में बदलाव चाहते हैं।


एक प्रस्ताव था "हवाई टैक्सियों" का प्रयोग करना, जो एक प्रकार के यात्री विमान होते हैं, जो मांग के आधार पर यात्रियों को क्षेत्रीय हवाई अड्डों तक ले जाते हैं, जिससे हवाई अड्डे पर होने वाली भीड़भाड़ और देरी से बचा जा सकता है। आधिकारिक रूप से, लघु विमान परिवहन प्रणाली (एसएटीएस) के रूप में जानी जाने वाली, एयरटैक्सियां समुद्र तटों की यात्रा और परिवार के साथ यात्रा को एक सरल, आसान विमान की सवारी में बदल सकती हैं।


यह खर्चों को काफी कम करता है


अंतर्राष्ट्रीय विमान सेवाओं द्वारा निर्धारित विमान महंगे हो सकते हैं। वोअक्सर पहले से आरक्षित और अनिश्चित हो सकते हैं। वर्तमान में, विमान सेवाएं इन विमानों को पूरा करने के दबाव में हैं, ताकि यात्री अपनी योजनाओं और स्थानों पर टीके रह सकें। आज के समय में, अमेरिका में, केवल लगभग 40 प्रमुख हवाई अड्डे हैं, और साल भर में 100 मिलियन तक यात्री इनमें से एक से गुज़र सकते हैं। बड़ी संख्या में लोगों द्वारा यात्रा का चुनाव करने के कारण, कई हवाई अड्डों पर बोझ बढ़ा है और उन्हें उड़ान में देरी का सामना करना पड़ रहा है।


बड़े हवाई अड्डों और उड़ानों को चलाना बहुत जटिल है। मुनाफा बढ़ाने के लिए विमान सेवाएं हवाई जहाज़ों में ज़्यादा से ज़्यादा सीट भरने की कोशिश करती हैं। परिणामस्वरूप, यात्रियों की पसंद सीमित होती है, और उन्हें कुछ नियमों और स्थानों पर टीके रहने की ज़रुरत होती है। इसकी वजह से, कई यात्री हवाई जहाज़ से जाने के बजाय ड्राइव करना पसंद करते हैं, जिससे परिवहन के एक अन्य बुनियादी ढांचे पर भार बढ़ जाता है और वो है: राजमार्ग।


इसके अलावा, कई शहरों की आबादी इतनी ज़्यादा है कि एक जगह से दूसरी जगह जाने में कई घंटे लग जाते हैं। ज़रा मैनहट्टन के व्यस्त समय या बैंकॉक के भारी यातायात के बारे में सोचकर देखिये।


ऐसे में हवाई टैक्सियों का विकल्प हमारे सामने आता है। जो वायु सेवाओं और राजमार्ग के लिए एक जवाब है। हवाई टैक्सियों के साथ यात्री उच्च बहुमुखी प्रतिभा का लाभ उठा सकते हैं, जिनमें आगमन और प्रस्थान के लिए ज़्यादा स्थान होते हैं। एयरटैक्सियां वायु सेवाओं - या टैक्सी कंपनियों के खर्चों को काफी कम कर सकती हैं।

लघु विमान परिवहन प्रणाली एक साधारण विचार पर आधारित है। एसएटीएस कुछ बड़े हवाई अड्डों पर निर्भर होने के बजाय, पूरे संयुक्त राज्य में स्थित5,000 से अधिक क्षेत्रीय, स्थानीय हवाई अड्डों का प्रयोग कर सकता है। एसएटीएस थोड़े छोटे, ज़्यादा किफायती विमानों का भी निर्माण करेगा, जो बड़े विमानों के समान हवाई क्षेत्र में उड़ान भरने के लिए पर्याप्त रूप से परिष्कृत होते हैं। चूंकि, बड़े विमानों के मुक़ाबले इन छोटे हवाई अड्डों और विमानों को संचालित करने में कम खर्च आएगा, इसलिए एसएटीएस वायु सेवाएं अपने ग्राहकों को ज़्यादा मात्रा में मार्ग और समय-सारणी प्रदान कर पाएंगी।


इसकी व्यापक स्वीकृति पर ध्यान देना भी ज़रुरी है। निर्माताओं और शोधकर्ताओं को ग्राहकों को सुरक्षा के बारे में आश्वस्त करना होगा, ख़ासकर तंग लैंडिंग क्षेत्रों और तेज़ हवाओं में यह ज़्यादा ज़रुरी है। यह देखते हुए कि यात्री वाहनों में जाने को लेकर कितना चिंतित होते हैं, इसलिए अपने से चलने वाली गाड़ी में यात्रा करना उनके लिए काफी परेशानी भरा हो सकता है। ऐसा अनुमान लगाया गया है कि हवाई टैक्सियां बेहद महंगी होंगी, ख़ासकर शुरुआत में। जेएफके हवाई अड्डे से मैनहट्टन के लिए उबेरएलिवेटहेलीकॉप्टर की सवारी के लिए प्रति व्यक्ति $200 का खर्च आता है, जिससेहमें दुनिया भर में इन निजी उड़ानों के मूल्य का एक बेहतर अनुमान मिलता है।


निष्कर्ष:


स्थानीय परिवहन की तुलना में हवाई टैक्सियां ज़्यादा स्वस्थ विकल्प होंगी क्योंकि विमान 500 फीट के अंदर उड़ान भरेंगे, और इस बात का ध्यान रखेंगे कि वो सामान्य विमानों का क्षेत्र साझा न करें। सारी गतिविधियां सॉफ्टवेयर के माध्यम से निर्देशित और नियंत्रित होंगी, जिससे उड़ानों में आसानी होगी। यह अच्छी तरह ज्ञात है कि आसमान में रास्ते होते हैं; प्रत्येक वायु सेवा में उन्हें हवाई यातायात नियंत्रक द्वारा प्रयोग किया जाता है और सभी व्यावसायिक विमानन संचालकों द्वारा देखा और संचालित किया जाता है।


0 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

पहाड़ों में ड्रोन से आपदा प्रतिक्रिया में बदलाव लाना

कोई भी आपदा आने से पहले, उदाहरण के लिए, किसी विशेष स्थलाकृति पर नज़र रखने के लिए, ड्रोन का प्रयोग करके जोखिम पर नियंत्रण पाया जा सकता है और संभावित नुकसान से बचा जा सकता है। बाढ़ वाले क्षेत्रों में गंभी

स्वशासन में ड्रोन की भूमिका

पिछले कुछ समय से, रक्षा संस्थान और तकनीकी रूप से समझदार ग्राहक ड्रोन तकनीक का प्रयोग कर रहे हैं। इस तकनीक से मिलने वाले लाभ केवल इन उद्योगों तक सीमित नहीं हैं। ड्रोन की बढ़ती उपलब्धता के साथ, कई सबसे